शेयर बाजार क्या है | Share Market Basics In Hindi, Types Of Share Market

इस पोस्ट में हम Share Market याने शेयर बाजार की जानकारी जानेंगे, जैसे की, What is share market, Share market basics in hindi, शेयर बाजार क्या है, शेयर बाजार कितने प्रकार के होते है, Types of share market और शेयर मार्केट में पैसा कब और कैसे invest करना चाहिए, Stock market in hindi, इत्यादि।

उद्योग या व्यवसाय चलाने के लिए जो कैपिटल होना जरूरी है, वह उन्हें शेयर बाजार से मिलता है। यह शेयर बाजार किसी भी विकसित देश की अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। तो दोस्तों निचे हम Share Market, शेयर बाजार के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जानेंगे।

stock market in hindi, share market basics in hindi, share market kya hai in hindi, share market tips in hindi, what is share market in hindi, शेयर मार्केट टिप्स, types of share market in hindi, share market kya hai, sheyar market in hindi, शेयर बाजार क्या है, types of shares in hindi, शेयर बाजार क्या होता है, शेयर कितने प्रकार के होते हैं, share market for beginners in hindi, शेयर मार्केट क्या है, स्टॉक मार्केट क्या है,

शेयर बाजार क्या है – What Is Share Market In Hindi?

Share Market में शेयर को ख़रीदा और बेचा जाता है। Share का मतलब “हिस्सा” या “भाग” होता है, परन्तु शेयर बाजार की भाषा में बात करे तो Share का अर्थ होता है कंपनियों का हिस्सा लेना, किसी कंपनी का शेयर खरीदना याने उस कंपनी का हिस्सेदार या भागीदार बन जाना।

शेयर मार्केट को स्टॉक मार्केट भी कहा जाता है, इसके माध्यम से आम आदमी भी छोटे-बड़े उद्योग या व्यवसाय मे अपनी भागीदारी कर सकता है। लेकिन किसी को Share Market बहुत फायदा हो जाता है या फिर किसी को उसकी बहुत बड़ी कीमत भी चुकानी पडती है यानि नुकसान भी हो जाता है।

Share Market में किसी को शेयर की कीमत में मांग और आपूर्ति के सिद्धांत की वजह से उतार-चढ़ाव आ जाता है। शेयर को खरीदने के लिए अगर ज्यादा व्यक्ति रहे तो शेयर की कीमत बढ़ जाती है और जब शेयर को बेचने वाले की संख्या ज्यादा हो तो कीमत घटती जाती है।

Stock Market, Share Market For Beginners In Hindi

शेयर मार्केट याने Stock market यह एक ऐसी जगह है जहा पर शेयर को ख़रीदा जा सकता है और बेचा जा सकता है, यहा पर बहुत से लोग पैसे कमाकर अपना फायदा भी कर लेते है और कुछ लोगो को पैसे गवाना भी पड़ता है, इसलिए यहाँ पर सोच-समझ कर ही फैसला लेना चाहिए।

BSE (Bombay Stock Exchange) और NSE (National Stock Exchange) यह भारत में मुख्य रूप से दो Stock Exchange है, जहा पर लोग शेयर खरीदते है और बेचते है।

Stock/Share की खरीदी- बिक्री करने के लिए शेयर ब्रोकर्स यानी शेयर दलाल की जरूरत पडती है, शेयर ब्रोकर्स किसी व्यक्ति या कंपनी को शेयर खरीदी और बिक्री करने का काम करता है और वह उसका कमीशन लेता है।

स्टॉक एक्सचेंज, ब्रोकर और निवेशक यह शेयर बाजार की तीन कडियाँ है। शेयर बाजार में ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज के सदस्य होते है और सिर्फ वो ही स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग कर सकते हैं। शेयर ब्रोकर्स याने शेयर दलाल की मदद से शेयर को ख़रीदा या बेचा जाता है। ग्राहक हो या कंपनी वह खुद शेयर खरीद या बेच नही सकते, इसलिए शेयर बाजार में हिस्सा लेना है तो शेयर दलाल की बहुत जरूरत होती है।

शेयर मार्केट के प्रकार – Types Of Share Market In Hindi

शेयर मार्केट के मुख्यतः Primary Share Market और Secondary Share Market यह दो प्रकार होते है, इसका सविस्तर विश्लेषण नीचे दिया गया है:

Primary Share Market – प्राथमिक शेयर मार्केट

Primary Share Market यह शेयर मार्केट का पहला प्रकार है। सबसे पहले कंपनी अपने शेयर्स की स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टिंग करवाकर अपने शेयर को बेचती है, पर इसके लिए उन्हें पहले IPO (Initial Public Offering) लाना पड़ता है।

इसमे IPO लाने के बाद तय किये गये मूल्य पर अपने शेयर पब्लिक को ख़रीदने के लिए उपलब्ध किये जाते है। कंपनियां प्राथमिक बाजार के माध्यम से निवेशकों तक पहुँचने के लिए स्टॉक एक्सचेंज जैसे BSE, NSE और ब्रोकर की मदद लेते हैं।

किसी कंपनी को IPO (Initial Public Offering) के लिए जाना है, तो उस समय उसको पूरी जानकारी देनी होती है जैसे की, Promoters, Financials, Businesses, अपने शेयर या स्टॉक और उनकी कीमत आदि।

Secondary Share Market – द्वितीयक शेयर मार्केट

जब शेयर मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करने की बात आती है, तो हम Secondary Share Market की ही बात करते है, क्योकि इन द्वितीयक शेयर मार्केट में ही हम पैसा लगाते है। इस प्रकार के मार्केट में पहले से ही लिस्टेड कंपनी के शेयर की खरेदी बिक्री होती है।

द्वितीयक शेयर बाजार में एक स्टॉक या शेयर की कीमत देख कर उसे ख़रीदा या बेचा जाता है, लेकिन उसके फायदे या नुकसान के साथ उस शेयर की ख़रीदा या बिक्री होती है। इसमे भी ब्रोकर या दलाल की मदद से ही खरेदी-बिक्री होती है। अगर किसी निवेशक गुंतवणूकदार को शेयर बाजार से बाहर निकलना है. तो वह अपना शेयर किसी ओर को बेचकर शेयर मार्केट से बाहर निकल सकता है ऐसा भी इस प्रकार के मार्केट में होता है।

शेयर बाजार में इन्वेस्टमेंट कैसे करें – How To Invest In Share Market

How to Money Invest in Share Market: शेयर मार्केट में हम पैसा इन्वेस्ट तो करना चाहते है, पर इन्वेस्ट करने से पहले ही हमारे सामने बहुत से सवाल खड़े हो जाते हैं जैसा कि, हमे कहां निवेश याने Invest करना चाहिए और कैसे करना है या Invest करने पर हमारे साथ कोई धोखा तो नहीं होगा। इन सब बातो का ख्याल रखकर ही शेयर बाजार में हम आसानी से निवेश कर सकते हैं।

1. Share Market में आने के लिए आपको स्टॉक ब्रोकर, शेयर्स को होल्ड करने के लिए Demat Account और शेयर्स को रोज खरीदने और बेचने के लिए ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत होती है। तो सबसे पहले इन जरूरतों को पूरा करने के लिए आपको स्टॉक ब्रोकर ऐसा चुनना चाहिए, जो कम से कम कमीशन ले और आपको अच्छी सेवा भी प्रदान करे।

2. शेयर बाजार को एक बिज़नेस की तरह समझना चाहिए और आपको उसी कंपनी का शेयर ख़रीदना है, जिसका बिज़नेस अच्छा हो और आपको समझ में आये।

3. शेयर बाजार में इन्वेस्ट करने से पहले आपको अपनी आर्थिक स्तिथि को भी समझ लेना चाहिए, जैसे की अपनी financial situation क्या है, कमाई और रिक्स लेने की क्षमता, इत्यादी। सिर्फ पैसे लगाना ही सबकुछ नही होता है बल्कि आपको पहले अपनी financial plan के बारे में भी सोचना पड़ता है।

4. Share Market याने Stock market की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की, आपको शेयर बाजार के बारे में पूरी और सही जानकारी होना बहुत जरूरी है। आपको कोई भी फैसला जल्दबाजी में नही लेना चाहिए वरना आपको इसकी बहुत बडी कीमत चुकानी पड़ सकती है।

5. शेयर मार्केट में किसी को भी कोई शेयर खरीदना और बेचना है तो उसके लिए हमेशा एक स्टॉक ब्रोकर या शेयर दलाल की जरूरत होती है। जब आप शेयर बाजार में निवेश या Invest करने के लिए स्टॉक ब्रोकर की मदद लेते है, तो सबसे पहले आपको उनके पास से दो अकाउंट खोलने पड़ते है Demat Account और Trading Account, यह अकाउंट खोलने के बाद आप आसानी से कोई भी शेयर की खरेदी-बिक्री कर सकते है।

6. जब कभी भी आपको शेयर बाजार में Invest या निवेश करना है, तो सबसे पहले उस कंपनियों की हालातों के बारे में सब बाते जानना बहुत जरूरी है।

7. शेयर बाजार में शेयर विकास का दर कम हो या महँगाई दर ज्यादा हो, तो उस वक्त बड़ी कंपनियों पर नजर रखें, क्योंकि ऐसी स्थिति में छोटी कंपनियों के मुकाबले में बड़ी कंपनियों के शेयर अच्छी स्थिति में होते हैं।

ये भी पढ़े:
Mutual Fund क्या है? और म्यूच्यूअल फण्ड के प्रकार
Investment क्या है? और Investment के प्रकार

तो दोस्तों आशा करते है की आपको What is share market, Share market basics in hindi, शेयर बाजार क्या है, शेयर बाजार कितने प्रकार के होते है, Types of share market और शेयर मार्केट में पैसा कब और कैसे invest करना चाहिए, Stock market in hindi, इत्यादि की सही जानकारी मिली होंगी। यदि आपको हमारी यह पोस्ट अच्छी लगी तो हमें comments करके बताये और अपने दोस्तों में जरुर शेअर करे।

About Rashmi Alone

I am a professional blogger from India. Here at "Hindi Sutra" I write all about Investment, Business, Internet, Management, Technology tips, Education, etc.

Leave a Comment