What Is GPS In Hindi, GPS full form | GPS क्या है और कैसे काम करता है?

आपने जीपीएस का नाम तो सुना ही होंगा, जीपीएस यह एक Global Navigation Satellite System है, जिसका उपयोग लोकेशन पता करने के लिए किया जाता है। तो आगे हम gps ka pura naam क्या है, what is gps in hindi, जीपीएस कैसे काम करता है, how gps works, जीपीएस के उपयोग, इत्यादी के बारे में पूरी जानकारी जानेंगे।

gps in hindi, जीपीएस क्या है, जीपीएस की जानकारी, gps full form in hindi, what is gps in hindi, gps meaning in hindi, gps history,  gps ka full form, जीपीएस कैसे काम करता है, how to use gps in hindi, gps definition in hindi, जीपीएस के उपयोग, जीपीएस के प्रकार,

GPS full form in Hindi

Global Positioning System यह gps का full form होता है, जिसे हिंदी में वैश्विक स्थान-निर्धारण प्रणाली कहा जाता है।

What Is GPS In Hindi – जीपीएस सिस्टम क्या है?

GPS याने Global Positioning System यह एक उपग्रह आधारित नेविगेशन प्रणाली है, जिसका उपयोग हर समय में और किसी भी मौसम में लोकेशन का पता लगाने के लिए किया जाता है। और यह जीपीएस Satellites, Ground stations, और Receivers इन तीन भागों से बना हुआ है।

जीपीएस सिस्टम यह Satellites (Space segment), Ground stations (control segment), और Receivers (user segment) इन तीन भागों से बना हुआ होता है, तो चलते आगे इसके बारे में जानते है:

  1. Satellites – (Space segment): उपग्रह यह तारों की तरह काम करते हैं जो constellations यानि तारामंडल होते है।
  2. Ground stations (control segment): ग्राउंड स्टेशन रडार का उपयोग यह सुनिश्चित करने के लिए करते हैं कि, ऑर्बिट से सॅटॅलाइटस के deviation यानि विचलन और साथ ही साथ जीपीएस टाइमिंग से टॉलरेंस लेवल के अंदर है।
  3. Receivers (user segment): एक रिसीवर यह आप अपने mobile या गाड़ी में पा सकते हैं, हर समय में यह उपग्रहों से भेजे गये सिग्नल्स या संकेत को सुन रहा होता है। इससे रिसीवर यह पता लगाता है कि उनमें से वह कितनी दूरी पर हैं।

यह हमे location की स्थिति के साथ साथ हमारे वेग और समय के सिंक्रनाइज़ेशन की भी जानकारी प्रदान करता है। यह एक तरह से हमारा दिशा निर्धारण करता है, जो हमें सॅटॅलाइट के जरिये एक जगह से दूसरे जगह तक का रास्ता दिखाता है।

आज भारत में भी इस gps प्रणाली का प्रयोग बढ़ता जा हैं। इस प्रणाली का प्रमुख प्रयोग नक्शा बनाने, जमीन का सर्वेक्षण करने के लिए, वैज्ञानिक प्रयोग, वाणिज्यिक कार्य के लिए, सर्विलैंस और ट्रेकिंग करने के लिए या जियोकैचिंग के लिये भी किया जाता हैं।

GPS History In Hindi

वैश्विक स्थान-निर्धारण प्रणाली यानि GPS यह एक global navigation satellite system है, जिसका उपयोग कोई भी लोकेशन को पता करने के लिए किया जाता है। इस सिस्टम को सबसे पहले 1960 में अमेरिका के Defense Department – रक्षा विभाग ने बनाया था। लेकिन उस वक्त इसका उपयोग केवल US Army के लिए ही किया जाता था।

लेकिन April 1995 में इसे सार्वजनिक उपयोग के लिए बनाया गया और अब इस gps technology का उपयोग आम आदमी भी किसी Navigation को या रास्ता ढूँढ़ने के लिए कर सकता है।

पहला USA Navigation satellite system का नाम NAVSTAR है। और भारत के Navigation satellite system का नाम Indian Regional Navigation satellite system यह है।

How To Use GPS In Hindi – जीपीएस के उपयोग

अब आम आदमी भी आसानी से अपने मोबाइल में जीपीएस का उपयोग कर सकता है। आज हर एक मोबाइल में जीपीएस connect किया हुआ है। तो जीपीएस का उपयोग और किस काम के लिए करते है यह हम आगे जानेंगे:

GPS के पाँच मुख्य उपयोग होते है वह नीचे दिए गये हैं:

  1. Location: अपनी location जानने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
  2. Tracking: किसी चीज या वाहन को track करने के लिए भी जीपीएस use करते है।
  3. Mapping: दुनिया का नक्शा बनाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
  4. Navigation: जीपीएस का उपयोग एक जगह से दूसरी जगह जाने लिए किया जाता है।
  5. Timing: टाइमिंग के लिए यानि सही समय जानने के लिए भी gps use किया जाता है।

इसके अलावा भी कई जगह पर gps system का उपयोग किया जाता है, जीपीएस यह कई प्रकार के अलग अलग उद्योगों, व्यवसायों और संगठनों के लिए एक शक्तिशाली और भरोसेमंद उपकरण है।

कुछ लोग अपने काम के लिए दैनिक रूप से जीपीएस का उपयोग करते हैं जैसे की, सर्वेक्षणकर्ता, वैज्ञानिक, पायलट, नाव कप्तान, पहले उत्तरदाता, खनन और कृषि में काम करने वाले लोग इत्यादी।

GPS कैसे काम करता है?

How GPS Works in Hindi: जीपीएस 32 सॅटॅलाइट का एक समुह है जो पृथ्वी की सतह से लगभग 26,600 किमी कि दुरी पर स्थित है। एक जीपीएस 4 सॅटॅलाइट से ज़ुडा हुआ होता है और हमारा मोबाइल या कोई भी गाड़ी हो वह जीपीएस रिसीवर की तरह काम करता है।

अमेरिका ने 50 से अधिक जीपीएस सॅटॅलाइट launch किये है, प्रत्येक उपग्रह लगातार संदेश रूपी संकेत प्रसारित करता रहता है। gps receiver इन्ही सॅटॅलाइट से भेजे गये सिग्नल के संकेतो के आधार पर लोकेशन बताते है।

शोध और अध्ययन के बाद, यह ज्ञात हुआ है कि रिसीवर सटीक और बेहतर गणना के लिए चार उपग्रहों का उपयोग करता है। यह उपयोगकर्ता को three-dimensional position यानि त्रि-आयामी स्थिति Latitude-अक्षांश, longitude-देशांतर और altitude-ऊंचाई की जानकारी देता है।

दरअसल यह पहले अपनी नजदीकी 4 सॅटॅलाइट से connect होता है और कनेक्ट होते ही सॅटॅलाइट इसके कोआर्डिनेट को वापस फ़ोन तक भेज देती है, जिससे आसानी से किसी जगह या लोकेशन का पता चलता है।

ये भी पढ़े:
1. Li-Fi क्या है और Li-Fi कैसे काम करता है?
2. IOT याने इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स की पूरी जानकारी
3. VPN क्या है और VPN का उपयोग कैसे करें?

तो आपको What is gps in hindi, gps meaning in hindi, GPS क्या है और कैसे काम करता है, जीपीएस के उपयोग, इत्यादी के बारे में काफ़ी जानकारी मिली होगी। आशा करते है की, आपको हमारा यह article अच्छा लगा होंगा, तो अपने दोस्तों में share करे और हमे comments करके ज़रूर बताये।

About Rashmi Alone

I am a professional blogger from India. Here at "Hindi Sutra" I write all about Investment, Business, Internet, Management, Technology tips, Education, etc.

Leave a Comment