What Is SSL In Hindi | Types Of SSL In Hindi, SSL Full Form

SSL in Hindi: आज हम जानेंगे SSL Certificate के बारे मे, किसी website या blog को सुरक्षित रखने के लिए SSL का उपयोग किया जाता है। हम किसी personal information जैसे की, बैंक की जानकारी, credit card – debit card की जानकारी, कोई password किसी वेबसाइट पर share करते है। तो वह site SSL protocol का उपयोग करती है। जिससे हमारी जानकारी बहुत सुरक्षित रखी जाती है।

तो वैसे ही अगर आप किसी Website या Blog पर work करते है और उसे secure रखना चाहते है तो SSL Certificate की बहुत जरूरत होती है। और SSL certificate से Google SERP में आपकी Website को rank करने में भी बहुत मदद होती है। आप SSL Certificate का उपयोग free या paid में भी कर सकते है।

तो आज हम SSL के बारे मे और जानकारी जानेंगे की, SSL full form, What is SSL Certificate, how does it work, SSL full form, एसएसएल के प्रकार, एसएसएल प्रमाणपत्र कैसे ख़रीदे, एसएसएल के फ़ायदे इत्यादि के बारे में आगे जानेंगे।

what is ssl in hindi, types of ssl in hindi, ssl full form, ssl in hindi, ssl kya hai, what is ssl certificate, ssl full form in hindi, एसएसएल क्या है, एसएसएल कैसे काम करता है, ssl certificate in hindi,

SSL full form

SSL का full from Secure Sockets Layer यह होता है।

What Is SSL Certificate In Hindi

1990 में NETSCAP द्वारा SSL technology को शुरू किया गया था। किसी website या blog को सुरक्षित रखने के लिए Secure Sockets Layer (SSL) का उपयोग किया जाता है। यह एक इंटरनेट में उपयोग किया जाने वाला Encryption Protocol है, जो browser और web server के बीच काम करता है।

जब आप कोई भी साईट ओपन करते है, तो आपने यह देखा ही होगा की, website के address bar के आगे lock icon दिखाई देता है और secure यह लिखा होता है, ऐसा तभी दिखाई देता है जब SSL Certificate installation किया गया है।

अगर SSL Certificate install है तो browser में साईट https://hindisutra.com ऐसा दिखाई देंगी, यदि SSL Certificate का उपयोग नही किया गया तो आपकी website address bar में https://hindisutra.com ऐसी दिखाई देती है।

एसएसएल कैसे काम करता है?

जब कोई इंटरनेट उपयोगकर्ता किसी सुरक्षित वेबसाइट पर जाता है, तो एक SSL Certificate वेब सर्वर के बारे में पहचान संबंधी जानकारी प्रदान करता है, और एक encrypted कनेक्शन स्थापित करता है और यह प्रक्रिया एक सेकंड के एक अंश में होती है।

याने SSL यह एक Encryption Protocol है, जो इंटरनेट ब्राउज़र से एक सुरक्षित वेबसाइट से जुड़ने का प्रयास करता है, और यह इंटरनेट उपयोगकर्ता को सुरक्षित रूप से डेटा की लेनदेन की अनुमति देता है।

Types Of SSL In HIndi – एसएसएल के प्रकार

अलग अलग Website के लिए विभिन्न SSL होते है उनमेसे कुछ सस्ते होते है या कुछ महंगे होते है, तो हम types of ssl protocol के बारे मे जानेंगे।

  1. Organization Validation SSL Certificate
  2. Extended Validation SSL Certificate – ev SSL certificate
  3. Domain Validated SSL Certificate
  4. Multi-Domain Wildcard SSL Certificate
  5. Multi-Domain (SAN) SSL Certificate
  6. Wild card SSL Certificate

इन सभी प्रकारों के बारे मे हम आगे विस्तारित रूप से जानेंगे:

OV – Organization Validation SSL Certificate

ऑर्गेनाइजेशन वेलिडेशन एसएसएल का उपयोग online business को secure करने के लिए किया जाता है। Organization Validated Certificate यह Domain validated Certificate से महँगा होता है और यह सर्टिफ़िकेट इशू होने के लिए दो दिन लगते है।

EV – Extended Validation SSL Certificate

Extended Validation Certificate यह बड़ी बड़ी websites या बड़ी company के लिए use किया जाता है, और यह सर्टिफ़िकेट OV और DV से बहुत महँगा होता है, One week में यह सर्टिफ़िकेट इशू हो जाता है।

DV – Domain Validated SSL Certificate

Domain Validated SSL Certificate का उपयोग ज्यादातर blogger, website के लिए किया जाता है और इसे update होने में सिर्फ़ एक या दो घंटे लगते है और तो और यह सबसे सस्ता भी होता है।

Multi Domain Wildcard SSL Certificate

यह नाम से ही पता चलता है की, आप Multi Domain Wildcard SSL Certificate मे एक से अधिक Domain या sub domain add कर सकते है। आप multi domain SSL certificate का उपयोग एक से ज्यादा domain secure करने के लिए कर सकते है।

Multi-Domain (SAN) SSL Certificate

Multi-Domain (SAN) SSL certificate का उपयोग आप अधिकतम 250 domain secure करने के लिए कर सकते है। यह सर्टिफ़िकेट आपको EV – Extended validation, DV – Domain validated, OV – Organization Validation के साथ मिल जाता है।

Wild Card SSL Certificate

Wild Card SSL Certificate यह आपके website के URL और sub domain को सुरक्षित करता है। Wild Card SSL यह सिर्फ़ Organization Validation और Domain validated के साथ आता है।

Benefits Of SSL Certificate – एसएसएल सर्टिफ़िकेट के फ़ायदे

SSL Certificate यह एक ऐसी technology है, जिससे आपकी किसी website को secure रखने में मदद करता है इससे कोई आपकी information को hack नही कर सकता। तो SSL Certificate के फ़ायदे क्या है यह हम नीचे जानेंगे।

  1. एसएसएल प्रमाणपत्र का सबसे बड़ा फ़ायदा यह होता है की, कोई भी hacker आपकी site को किसी भी प्रकार से hack नही कर सकता, इससे आपकी website या personal details बहुत सुरक्षित रहती है।
  2. SSL Certificate से google search results में secure blog या website की ranking को बढ़ाने के लिए बहुत मदद मिलती है।
  3. E – Commerce website अधिकतर online payment लेती है, इसलिए E – Commerce website के लिए SSL Certificate होना बहुत आवश्यक है, इससे आपकी website को secure रखा जाता है।
  4. अगर आपकी website का Sitemap submit नही हो रहा है, तो SSL Certificate install करने से तुरंत और बहुत आसानी से Sitemap submit हो जाता है।
  5. SSL Certificate द्वारा आपके website की सभी information encrypt हो जाती है।

अगर आप blog या website पर work करते है तो आपको ऐसा लगा ही होगा की, Do I need an ssl certificate – क्या मुझें SSl Certificate की आवश्यकता है या नहीं, तो ज़रुर आपको अपनी website या blog को secure करने के लिए SSL Certificate होना बहुत आवश्यक होता है।

Where To Buy SSl – SSl कहाँ से ख़रीदे?

अगर आपका कोई blog या website है और आप उसे secure रखना चाहते है, तो आपको वेबसाइट या ब्लॉग के लिए SSL Certificate buy करना बहुत आवश्यक होता है। SSL Certificate installation करने से आपकी website किसी hacker से hack करने से बच जाती है।

आप SSL Certificate free या paid वाला भी use कर सकते है। बहुत सी ऐसी company है, जो आपको SSl provide करती है। जैसे की, GoDaddy, Hostgator, Bluehost इत्यादि। दोस्तों आपके मन में सवाल आया होंगा की SSL Certificate कहा से ख़रीदे। तो जिस प्रकार से आपने Domain या hosting जिस company से ख़रीदा है, उसी कंपनी से अगर आप SSL Certificate ख़रीद लेते है। तो आप उसे आसानी से manage कर सकेंगे।

अगर आप किसी दूसरी company से SSL ख़रीदते है, तो आपको उसे मैनेज करने में बहुत से problem भी आ सकते है। इसलिए अगर आप Domain या hosting और SSL एक ही कंपनी से ख़रीदते है तो आपके लिए बेहतर होंगा।

तो दोस्तों आशा है की, आपको What is SSL Certificate in Hindi – Types of SSL in HIndi यह पोस्ट अच्छी लगी होंगी, यदि हां तो कृपया अपने दोस्तों में share करे और हमे comments करके बताये।

About Rashmi Alone

I am a professional blogger from India. Here at "Hindi Sutra" I write all about Investment, Business, Internet, Management, Technology tips, Education, etc.

1 thought on “What Is SSL In Hindi | Types Of SSL In Hindi, SSL Full Form”

Leave a Comment